Email Address
info@bharatpurcredit.in
Our Location
Red cross circle, opposite nehru bhawan
About Us - Bharatpur Credit Co-Oprative Society
सब एक के लिए - एक सब के लिए
सहकारिता आंदोलन का ध्येय किसानों, श्रमिकों, शिल्पकारों, लघु व्यवसायियों तथा विविध स्तरों पर उत्पादक गतिविधियों में संलग्न जनसाधारण को बिचौलियों के शोषण से मुक्त कराते हुए, उनकी पारस्परिक सहयोग पर आधारित सामूहिक आर्थिक गतिविधि को प्रोत्साहित कर, उनका आर्थिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक विकास सुनिश्चित करना, तथा इसके माध्यम से एक शोषण मुक्त, स्वावलम्बी एवं सशक्त आर्थिक एवं सामाजिक व्यवस्था की स्थापना करना है, ताकि राज्य की सर्वतोमुखी प्रगति सुनिश्चित की जा सके।
एक सब के लिए-सब एक के लिए मुलमंत्र पर आधारित हमारे देश का सहकारिता आन्दोलन दुनिया में सबसे बड़ा है। हमारे प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु ने देश के योजनाबद्ध विकास में सहकारिता को महत्व दिया। उसी का परिणाम है की इस आन्दोलन ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली कृषि पशुपालन एंव डेयरी और ग्रामीण अर्थव्यवस्था मे महत्वपुर्ण उपलब्धिया अर्जित की है। दुनिया के विकासशील देशो में सहकारिता आज की आवश्यकता है।
अल्पविकसित देश तेजी से आर्थिक विकास के लिए सहकारिता को अपनाकर आगे बढ रहे है। सहकारिता ग्रामीण, जरुरतमंद, आर्थिक दृष्टी से कमजोर और आम नागरिको के आर्थिक विकास का सशक्त माध्यम है। आर्थिक विकास की लगभग सभी गतिविधीयो का संचालन अब सहकारिता के माध्यम से होने लगा है।
सहकारिता हमारे जीवन में रचि बसी व्यवस्था है। बिचोलियो के शोषण से बचाकर आर्थिक विकास की धारा से जोडने में सहकारिता की मुख्य भुमिका रही है। सहकारी साख संस्थाओ से आम नागरिको को सहकारी कर्जो की सहज उपलब्धता से गांव, ग्रामीण और कास्तकारो के समग्र आर्थिक विकास का परिदृष्य बदला जा रहा है। देश और प्रदेश के आर्थिक परिदृष्य खासतोर से ग्रामीण परिदृष्य को बदलने के लिए सहकारिता से अच्छा और कोई माध्यम नही हो सकता । इसी आंदोलन को आगे बढाने हेतु पंछी नगरी भरतपुर में बेकिंग, माकैर्टिंग एवं सहकार के अनुभवियो द्धारा भरतपुर क्रेडिट कॉ-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड (भरतपुर क्रेडिट सहकारी समिति) का गठन किया गया। समिति नें जिले की आर्थिक व्यवस्था में बिचोलियो को दुर कर, मजबुत सहकारी संस्था बनने का संकल्प लिया है। लेकिन आर्थिक दृश्टि से सक्षम सहकारी संस्था ही अपने उद्देष्यो में सफल होने के साथ सदस्यो को बेहतर सेवाऐं उपलब्ध करा सकती है। अत: आप सभी से अनुरोध है की जिले के सहकारी आंदोलन को राज्य एवं देश का अग्रणी सहकारी आंदोलन बनाने के समन्वित प्रयासो में भागीदार बनते हुऐं सहकारी सुविधाओ में त्वरित संसाधन और आंदोलन को सदस्योन्मुखी बनाने की दिशा में कदम बढाऐ एंव उचित निवेश समिति के साथ करे ताकी सहकार के अर्थ को साकार किया जा सके।
आपके द्वारा किया गया एक छोटा सा निवेश आपको अच्छा प्रतिफल तो देगा ही, साथ ही आपके निवेश द्वारा किसी किसान, श्रमिक, शिल्पकार, लघु व्यवसायी या जरूरतमंद को दिया गया ऋण अप्रत्यक्ष रूप से उन्हे रोजगार भी प्रदान करेगा।
इसी आशा और विश्वास के साथ
जय सहकार
What's New
FOLLOW US: